Entertainment

अजय देवगन को हिंदू धर्म का मजाक उड़ाना बहुत भारी पड़ गया है


अजय देवगन को हिंदू धर्म का मजाक उड़ाना बहुत भारी पड़ गया है। मामला इतना बढ़ गया है कि बात उनके कॉलर तक जा पहुंची है। उन्हें कोर्ट में घसीटने का बंदोबस्त कर दिया गया है।

दरअसल, पिछले दिनों अजय देवगन की फिल्म थैंक गॉड (Thank GOD) का ट्रेलर रिलीज हुआ था। इसमें अजय देवगन को चित्रगुप्त की भूमिका में दिखाया गया, लेकिन चित्रगुप्त के गैटअप में अजय देवगन बिल्कुल मॉर्डन नजर आए। वो ट्रेलर में कोट पैंट पहने हुए दिखे। उनके आसपास शॉर्ट ड्रेस पहने लड़कियां भी खड़ी हुई थीं। ट्रेलर में वो सिद्धार्थ मल्होत्रा के साथ मजाक करते हुए भी नजर आए।

 

 

 अजय देवगन के इसी गेटअप पर बवाल खड़ा हो गया है। उत्तर प्रदेश में वकील हिमांशु श्रीवास्तव ने कोर्ट में अजय देवगन, सिद्धार्थ मल्होत्रा और फिल्म के डायरेक्टर इंद्र कुमार के खिलाफ केस दर्ज करवाया है। इस मामले में हिमांशु का बयान 18 नवंबर को रिकॉर्ड किया जाएगा। हिमांशु के मुताबिक फिल्म का ट्रेलर धर्म का मजाक उड़ाता है और उसने धार्मिक भावनाओं को आहत किया है। हिमांशु ने शिकायत में लिखा है कि ट्रेलर में सिद्धार्थ मल्होत्रा का एक्सीडेंट होने के बाद उनके कर्मों का हिसाब किताब चित्रगुप्त भगवान के दरबार में होता है, जहां अजय देवगन स्वयं को भगवान चित्रगुप्त बताते हुए जोक्स और आपत्तिजनक शब्दों का प्रयोग कर रहे हैं। फूहड़ शब्दों का प्रयोग करते हुए भगवान चित्रगुप्त की प्रस्तुति की गई है।

पुराणों के अनुसार भगवान चित्रगुप्त न्याय के देवता माने जाते हैं। चित्रगुप्त हर इंसान के अच्छे बुरे कर्मों का हिसाब रखते हैं और उन्हें कर्म का देवता माना जाता है। भगवान का ऐसा चित्रण सही नहीं है और उससे धार्मिक भावना को ठेस पहुंच सकती है। हालांकि दूसरी तरफ फिल्म की कहानी भी कोई नई नहीं है। ऐसी ही एक फिल्म Lifestyles Ho Toh Aisi । साल 2005 में रिलीज हुई थी, जिसमें संजय दत्त को मॉडर्न यमराज के रोल में दिखाया गया था। उसमें में शाहिद कपूर मर जाते हैं और आखिर में वो जिंदा हो जाते हैं। फिलहाल तो मामला कोर्ट में जाने को तैयार है। अब देखते हैं कि इस मामले पर अदालत क्या एक्शन लेती है।



Denial of Responsibility ! rstbox.com is the automated aggregator of worldwide media. All content material subject material will also be discovered on the internet at no cost. We now have now organized it on a unmarried platform just for educational serve as. In every bodily merchandise, a link is specified for the primary provide. All icons belong to their rightful house owners, all content material is given to their authors. In case you are the landlord of the content material and we aren’t required to submit your provide on our internet web site, please touch us via e mail – [email protected] . Content material will also be got rid of inside 24 hours.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button