Social

एकाकी परिवार किसे कहते हैं इसकी क्या-क्या विशेषताएं हैं(single family in Hindi)

परिवार किसे कहते हैं (what is the family)

नमस्कार मेरे प्यारे भाइयों और बहनों वह मेरे दोस्तों हमारी साइट पर आने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद, दोस्तों आज की इस लेख में हम एक अहम बात समझेंगे जो हम सभी के जीवन से जुड़ा हुआ है। दोस्तों हमारे साइट पर समाज से जुड़ा हुआ हमारा जीवन है और जीवन से जुड़ा हुआ समाज है अतः जीवन से जुड़ा हुआ एक महत्वपूर्ण तथ्य जिसे हम परिवार family कहते हैं। दोस्तों एकल परिवार को समझने के लिए हमें सबसे पहले परिवार होता क्या है परिवार कहते किसे हैं यह समझना बहुत ही आवश्यक है तो चलिए पहले हम यह समझ लेतेे हैं।

परिवार की परिभाषा(difnation of family)

 इंसानों का वह समूह जो किसी ना किसी रूप में खून के रिश्तो से जुड़ा हुआ होता है उसे हम परिवार कहते हैं। परिवार में सभी लोग एक जगह रह कर अपने हर परेशानियों या जरूरत में सुख दुख में एक दूसरे के सह भागी होते हैं। अर्थात जो भी हमारे खून के रिश्ते में आते हैं वह हमारे परिवार होते हैं जैसे दादा दादी, मम्मी पापा ,बहन ,भाई ,चाचा चाची, बेटा बेटी, आदि।

परिवार के प्रकार (types of family)

परिवार को मुख्यतः दो भागों में विभक्त किया गया है जो निम्नलिखित हैं।
1-संयुक्त परिवार (joint family)
2-एकल परिवार (single family)
इसे भी पढ़ें-

एकल परिवार या एकाकी परिवार (single family)

मेरे भाइयों आप लोग तो समझ ही गए होंगे कि परिवार क्या होता है और अब हम यह जानेंगे की एकल परिवार क्या होता है परिवार कई तरह के होते हैं, जिसमें एक परिवार एकल परिवार भी है। वह परिवार जिसमें पति पत्नी व उनके बच्चे होते हैं उसे एकल परिवार कहते हैं। दोस्तों आज के युग में एकल परिवार बहुत ही तेजी से बढ़ रहे हैं। तथा संयुक्त परिवार टूटते जा रहे हैं। दोस्तों चाहे संयुक्त परिवार हो चाहे एकल परिवार हो हमने आपको बताया है की हर इंसान में या सिस्टम में कुछ ना कुछ गुण और कुछ दोष पाए जाते हैं तो दोस्तों एकल परिवार भी एक सिस्टम है जिसमें कुछ बुराइयां भी हैं और कुछ अच्छाइयां भी, तो चलिए आगे हम इनकी अच्छाइयां वह बुराइयों पर विचार करेंगे।

एकाकी परिवार की विशेषताएं(characteristics of singal family)

 एकाकी परिवार में कुछ विशेषताएं पाई जाती हैं जो हम स्टेप बाय स्टेप समझेंगे।

1-विकसित परिवार(developed family)

 एकल परिवार एक ऐसा परिवार है जो हमेशा कार्य में लगा रहता है और अपना और अपने बच्चों का भविष्य सवारने का भरपूर प्रयास करता है, संयुक्त परिवार की अपेक्षा एकल परिवार अत्यधिक विकसित देखने को मिलता है क्योंकि संयुक्त परिवार में लोग मन लगाकर कार्य नहीं करते, क्योंकि उसमें द्वेष की भावना उत्पन्न हो जाती है उन्हें यह लगता है की काम हम करते हैं और हमारा कमाई घर का मालिक अपने हिसाब से खर्चा करता है इसलिए उसमें कुछ लोग मन लगाकर कार्य नहीं करते जिसके कारण विकास इतना तेजी से नहीं हो पाता परंतु जब वही परिवार एकाकी परिवार में परिवर्तित हो जाता है तो उसका हर सदस्य मन लगाकर कार्य करने में जुट जाता है क्योंकि उसका कार्य किया हुआ मुनाफा उसे ही प्राप्त होता है अतः वाह भरपूर प्रयास करता है कि हम अपना और अपने बच्चों की लाइफ को सिक्योर बनाएं।

2-कार्य करने की स्वतंत्रता(full freedom in working)

संयुक्त परिवार की अपेक्षा एकल परिवार में कार्य करने की पूर्ण स्वतंत्रता होती है इसमें तुम्हें कोई भी रोक-टोक करने वाला नहीं होता है संयुक्त परिवार में कार्य विभाजित किया हुआ होता है, तथा जिसका जो कार्य सुनिश्चित किया जाता है वह आदमी वही कार्य कर सकता है अन्य कार्य नहीं कर पाता जैसे किसी को खेत जोतना है पत्नी को सिर्फ घर का चूल्हा चौका आदि करना है, तो 1 को सिर्फ ऑफिस जाना है इस तरह से कार्य बटे हुए होते हैं। परंतु एकल परिवार में ऐसा कोई ऑब्जेक्शन नहीं होता एकल परिवार में औरतें भी कार्य कर पाती है। तथा आदमी भी मनचाहा कार्य चल सकता है जो उसे पसंद हो।

3-बच्चों का समुचित शिक्षा(proper education of child)

 आप लोग भी परिवार में रहते होंगे तो आप लोगों ने देखा होगा की जिनका परिवार बड़ा होता है उनके परिवार में बहुत सारे बच्चे होते हैं। और उनके माता-पिता कार्य में इतने संलग्न होते हैं कि वह अपने बच्चों का ध्यान नहीं दे पाते हैं जिसके कारण वह बच्चे अच्छी शिक्षा प्राप्त नहीं कर पाते।

 परंतु एकल परिवार में बच्चों का माता पिता अपने बच्चों का पूर्ण ख्याल रखता है वह कब खाना खाता है कभी स्कूल जाता है कब खेलने जाता है इन सारी एक्टिविटीज पर उनकी नजर बनी हुई रहती है। जिसकेे कारण बच्चों को एक अच्छी शिक्षा प्राप्त करने का अवसर प्राप्त होता है।

4-ईर्ष्या रहित परिवार(non jialousy family)

एकल परिवार संयुक्त परिवार की अपेक्षा बहुत अच्छा माना जाता है क्योंकि इसमें ईर्ष्या द्वेष आदि का अभाव होता है। क्योंकि परिवार का संचालन करने के लिए सिर्फ पति पत्नी ही होते हैं जो परिवार के सभी गतिविधियों के संचालक होते हैं जिसके कारण मतभेद की भावना उत्पन्न नहीं होती है। और ईर्ष्या द्वेष से दूर होने के कारण लड़ाई झगड़े भी नहीं होते हैं इसलिए यह परिवार शांतिप्रिय परिवार होता है।

एकल परिवार के हानि(effect of single family)

 एकल परिवार में आप लोगों ने देखा होगा कि तमाम अच्छाइयां होते हुए भी इसमें कुछ परेशानियां होती हैं जिसे हम आगे समझेंगे कि आखिर एकल परिवार में कब-कब परेशानी उत्पन्न होती है और कैसी परेशानी उत्पन्न होती है।

1-बीमार होने पर असहाय(helpNess in ill time)

एकल परिवार में सबसे बड़ी समस्या यह होती है की अगर घर का एक सदस्य किसी कारण से बीमार पड़ जाता है तो वह एकदम असहाय हो जाता है क्योंकि उसके पीछे उसका साथ देने वाले कोई भी नहीं होता तथा उनकी कार्य भी रुक जाती है जिसके कारण उनकी आर्थिक स्थिति भी खराब होने लग जाती है इसलिए एकल परिवार की सबसे बड़ी परेशानी यह होती है कि लोगों का साथ और मदद नहीं मिल पाता है।

2-बच्चों को संभालने में परेशानी(trouble tracking care of childream)

संयुक्त परिवार में यह होता है की बच्चे को घर के बड़े बुजुर्ग या उनके दादी दादा संभालते हैं तथा उन्हें प्यार करते हैं जिससे उनका लालन-पालन अच्छी तरह से हो पाता है और उनका भी जी लगा रहता है।

 परंतु एकल परिवार में सबसे बड़ी परेशानी बच्चों का लालन-पालन व बच्चों को संभालने में होता है क्योंकि परिवार में सदस्य कम होने के कारण कार्य ज्यादा रहता है जिससे बच्चों के देखरेख करने में परेशानी उत्पन्न होती है। 

3-भारतीय संस्कृति का ह्रास(decline of Indian culture)

एकल परिवार में जो हमारे भारतीय संस्कृति का वसूल है उसका पालन नहीं हो पाता है, संयुक्त परिवार में जो नियम या जो मदद हर परिवार के सदस्य को मिल पाती है वह एकल परिवार में नहीं मिल पाता है। और हमारे भारत की संस्कृति यही कहती है कि एक दूसरे से संबंध बनाकर रखिए और परेशानी में एक दूसरे का मदद कीजिए। परंतु एकल परिवार में रहकर यह संभव नहीं हो पाता है जिससे हमारे भारतीय संस्कृति पर एक गहरी चोट पहुंचती है। 

2-संयुक्त परिवार (joint family)

ऐसा परिवार जिसमें 3 से अधिक सदस्य पाए जाते हैं संयुक्त परिवार कहलाता है। संयुक्त परिवार में खून के रिश्तो से जुड़े हुए सभी परिवार एक साथ रहते हुए कार्य करते हैं एक घर में भोजन करते हैं और निवास करते हैं। संयुक्त परिवार का आकार काफी बड़ा होता है। जिसमें बहुत परेशानियां होती है। संयुक्त परिवार के बारे में और अधिक जानकारी पाने के लिए आप हमारे वेबसाइट पर संयुक्त परिवार के पोस्ट को पढ़कर जानकारी हासिल कर सकते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button