Health

नाक से खून आना nak se khoon aana .in Hindi rstbox.

 नाक से खून आना nak se khoon aana .in Hindi rstbox.

नमस्कार दोस्तों, हमारे वेबसाइट पर आप लोगों का बहुत-बहुत स्वागत है, नाक से खून आना एक आम समस्या है जो लगभग 5 साल से 15 साल तक के उम्र में अधिकतर होता है, परंतु कभी-कभी कुछ परिस्थितियों में घातक सिद्ध हो सकता है इसलिए यदि आप लोग इसके बारे में पूरी जानकारी चाहते हैं, की यह क्यों होता है किस कारण से होता है और इससे कैसे बचा जा सकता है या नाक से खून आना बंद करने के लिए हमें क्या क्या उपाय करना चाहिए। तो आप लोग हमारे आर्टिकल को ध्यान से पढ़ें। क्योंकि इस आर्टिकल में हम आप लोगों को नाक से खून की समस्या के बारे में पूर्ण जानकारी देंगे।
नाक से खून आने को अंग्रेजी में “noes bleedinding” और हिंदी में इसे” नकसीर” फूटना तथा “बाशा “फूटना भी कहते हैं। यह गर्मियों के दिनों में अधिक होता है क्योंकि गर्मियों के दिनों में गर्म हवा चलने के कारण नाक के अंदर की त्वचा शुष्क हो जाती है और नकसीर फूटने की समस्या उत्पन्न हो जाती है। यह एक आम समस्या है परंतु जब नाक से खून आना बंद ना हो तो यह अत्यंत घातक हो सकती है और हमें जल्द से जल्द डॉक्टर  को दिखाने की आवश्यकता है। ऐसा नहीं है कि नकसीर हर किसी को होती रहती है या हमेशा फूटती रहती है, नकसीर फूटने की उम्र होती है, जिसमें अधिक नकसीर फूटने की समस्या दिखाई देती है 5 साल से 15 साल का नकसीर फूटने की समस्या अधिकतर क्योंकि इस उम्र में त्वचा अत्यंत कमजोर होती है। जो गर्म या ठंडा हवा होने के कारण तथा नाक पर चोट लगने के कारण noes bleedinding होने लग जाती है और दो-चार मिनट के पश्चात यह ठीक हो जाती है अगर आपको बिना किसी वजह के noes bleedinding  बार-बार हो रही है तो आपको तुरंत डॉक्टर को दिखाने की जरूरत है अन्यथा एक गंभीर रूप ले सकता है क्योंकि बार-बार नोज ब्लीडिंग होना आपके शरीर में रक्त blud की कमी हो सकती है और आप कमजोरी के शिकार हो सकते हैं।

नाक से खून कब आता है naak se khoon kab aata hai.

यह समस्या अधिकतर बच्चों में दिखाई देती है क्योंकि बच्चों की त्वचा अधिक मुलायम होती है जिसके कारण चोट लगने से या नाक के बल गिर जाने से नोज ब्लीडिंग होने लग जाती है। नाक के अंदर एक चिल्ली नुमा पाई जाती है जो बहुत ही कमजोर होती है जिसके कारण वह ठंड गरम हवा तथा नाक पर चोट लग जाने के कारण झिल्ली फट जाती है और नाक से खून बहने लग जाता है।
  • नकसीर की समस्या अधिकतर गर्मियों के दिनों में होती है क्योंकि गर्मियों के दिनों में गर्म हवाएं चलती हैं जो हमारे नाक के अंदर प्रवेश करती हैं और नाक के अंदर की झिल्ली नुमा त्वचा को रूखी बना देती हैं, जिसके कारण झिल्ली फट जाती है और नाक से खून बहना लग जाता है जीसे नकसीर भी कहते हैं।
  • नकसीर फूटने की एक निश्चित उम्र होती है जिसमें अधिकतर नकसीर फूटने की समस्या देखने को मिलती है। 5 साल से 15 साल तक के बच्चों में नकसीर फूटने की समस्या सबसे ज्यादा होती है।
  • बार बार छींक आने से नकसीर फूटने की समस्या उत्पन्न हो जाती है क्योंकि छींक आने पर नाक के अंदर की झिल्ली पर दबाव पड़ता है जिसके कारण वह झिल्ली फट जाती है और नाक से खून बहने लग जाता है।
  • कभी-कभी नकसीर की समस्या 18 साल से ऊपर के लोगों में भी आ जाती है। जब खून में प्लेटलेट्स की कमी हो जाती है तो नोज ब्लीडिंग की समस्या हो सकती है क्योंकि खून में प्लेटलेट्स ही खून को बहने से रोकता है इसलिए डेंगू अथवा तेज बुखार होने के कारण प्लेटलेट्स की कमी हो जाने से नाक से खून बहने की समस्या हो जाती है।

नाक से खून बहने पर घरेलू उपचार naak se khoon bahane par gharelu upchar

नाक से खून बहना एक आम समस्या है, जो अधिकतर गर्मियों के दिनों में होता है क्योंकि गर्मियों के दिनों में मौसम गर्म होने के कारण नाक की त्वचा में चिड़चिड़ापन आ जाता है और नाक से खून निकलने लग जाता है यह समस्या घर के कुछ नुस्खों तथा तरीकों को अजमा कर इससे छुटकारा पा सकते हैं परंतु यदि आपको बार-बार नकसीर की समस्या हो रही है या आपके नाक से खून बहना बंद नहीं हो रहा है तो आपको तुरंत डॉक्टर की सलाह लेनी आवश्यक है अतः मैं आपको कुछ ऐसे टिप्स बताऊंगा जिनके द्वारा आप नाक से बहते हुए खून को रोकने में सफल हो सकते हैं।

1-पीठ के बल लेट जाना

यदि आपके नाक से खून बहने लग जाए तो आप तुरंत नाक के खून को कॉटन से साफ करके पीठ के बल लेट जाएं, परंतु ध्यान रहे बिना तकिया के ही लेटना अच्छा होता है। बहुत लोग को जब नाक से खून आने लग जाता है तो वह नाक को दबा दबा कर उसका खून निकालते हैं । और सिर लटका कर बैठ जाते हैं जिसके कारण खून बंद नहीं होता है। और बहुत तेजी से खून गिरने लग जाता है यह आपके लिए अत्यंत घातक सिद्ध हो सकता है इसलिए आपको यह ध्यान में रखना अत्यंत आवश्यक है कि जब भी नाक से खून बहना शुरू हो तो आप पहले खून को कॉटन से साफ कर ले और नाक को बिना छुए हुए बिना तकिए के सीधा लेट जाएं धीरे धीरे आपका खून बहना बंद हो जाएगा।

2-तुलसी के पत्ते के द्वारा नकसीर का इलाज Tulsi ke patte ke dwara nakseer ka ilaj

नकसीर होने पर तुलसी का पत्ता हमारे लिए बहुत कारगर सिद्ध होता है। यह आपको अपने आस-पड़ोस या घर के आंगन में बड़ी ही आसानी से प्राप्त हो जाएगा, तुलसी के पत्तों को तोड़कर उसको पीस लें तथा किसी साफ जालीदार कपड़े में अथवा छन्नी में रखकर इसे दबा दें जिससे इसका रस निकल आएगा। और इस रस को अपने दोनों नाक में डाल ले आप देखेंगे कि चार पांच मिनट बाद ही आपका नाम से खून आना बंद हो जाएगा और आपकी नकसीर की समस्या समाप्त हो जाएगी। आप चाहे तो तुलसी के पत्तों को चबा भी सकते हैं क्योंकि उसी पत्तों को चबाने से भी नकसीर के समस्या में काफी आराम मिलता है ।

3-बर्फ के टुकड़े के द्वारा नकसीर का इलाज barf ke tukde ke dwara nakseer ka ilaj

नकसीर की समस्या अधिकतर गर्मियों के दिनों में ही होती है क्योंकि गर्मियों के दिनों में त्वचा रूखी हो जाती है जिससे नाक के अंदर की ताजा कमजोर होकर फट जाती है और नाक से खून बहना शुरू हो जाता है इसलिए जब भी गर्मियों के दिनों में नाक से खून बहने की समस्या उत्पन्न हो तो बर्फ का टुकड़ा लेकर नाक के ऊपर सिकाई करें जिससे कुछ ही देर में नाक से खून बहना बंद हो जाएगा। परंतु ध्यान रहे जब नाक से खून बहना बंद हो जाए तो बर्फ की सिकाई बंद कर दें अन्यथा सर्दी जुखाम की समस्या जन्म ले सकती है। बर्फ की सिकाई सिर्फ खून आने के बाद ही करना है। इसको हमेशा स्तेमाल नहीं करना है।

4-मुंह से सांस ले

कभी-कभी जब अचानक नकसीर की समस्या हो जाती है तो बहुत लोग घबरा जाते हैं कि आखिर नाक से खून आने का क्या कारण हो सकता है तो आपको घबराने की कोई आवश्यकता नहीं है मैं आप लोगों की जानकारी के लिए यह पोस्ट लिख रहा हूं अतः इस पोस्ट को पढ़कर आप जान सकते हैं कि यह किस कारण से होती है इसलिए जब भी नकसीर की समस्या हो तो आपको घबराने की कोई जरूरत नहीं है इसको एक आम प्रॉब्लम ही समझिए इसलिए जब भी आपके नाक से खून आने लग जाए तो आप तुरंत नाक से सांस लेना बंद करके मुंह से सांस लीजिए पीठ के बल सीधा लेट जाइए और एकदम relax होकर एक-दो घंटे आराम करें। यदि आप नाक से सांस लेते रहेंगे तो नाक के अंदर की त्वचा को जोड़ने का तथा खून को जमने का समय नहीं मिल पाता है और खून बहना बंद नहीं होता है खून बहने के कारण आपकी घबराहट की बढ़ती जाएगी इसलिए जब भी नाक से खून बहने लगे तो आपको सबसे पहले relax होने की जरूरत है।

5-नारियल तेल के द्वारा नकसीर का इलाज coconut oil

नकसीर फूटने पर नारियल का तेल बहुत ही कारगर दवा का काम करता है। नारियल तेल की तासीर ठंडी होती है इसलिए जब भी नकसीर फूटे तो सीधा पीठ के बल लेट जाएं और अपने दोनों नाकों में नारियल का तेल डालें कुछ समय पश्चात आपके नाक से खून आना बंद हो जाएगा। नारियल का तेल नाक के अंदर जाकर त्वचा को मुलायम करता है तथा रक्त कोशिकाओं को ठंडक प्रदान करता है जिससे बहुत जल्द खून बहना रुक जाता है।अगर आपको बार-बार नकसीर की समस्या हो रही है तो कच्चे नारियल का पानी प्रतिदिन पिए इससे आपकी नकसीर की समस्या धीरे-धीरे समाप्त हो जाएगी।

नाक से खून आना कौन सी बीमारी है naak se khoon aana kaun si bimari hai

नाक से खून आना एक आम समस्या है यह कोई लंबी बीमारी नहीं है यह समस्या कुछ कारणों की वजह से हो जाती है जैसे सस्क हवा के कारण ज्यादा गर्म वस्तुएं खाने के कारण प्लेटलेट्स कम होने के कारण तथा नाक पर चोट लग जाने के कारण नाक से खून आने लग जाता है इस समस्या को हिंदी में “नकसीर” तथा कुछ जगह पर इससे “बासा “फूटना भी कहते हैं। अंग्रेजी में इसे” noes bleeding “भी कहा जाता है। इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए हम कुछ घरेलू दवाइयों का इस्तेमाल करते हैं। तथा कुछ सावधानियों के द्वारा इस समस्या से छुटकारा मिल सकता है। परंतु ध्यान रहे अगर 5 मिनट तक आपके नाक से खून बहना बंद नहीं हो रहा है और आप सारे घरेलू नुस्खे वह सावधानियां कर चुके हैं तो आपको तुरंत डॉक्टर की से सलाह लेनी चाहिए। क्योंकि यह गंभीर रूप ले सकता है।

सर्दी में नाक से खून आने के कारण sardi mein naak se khoon aane ke Karan

ऐसा नहीं है कि सिर्फ गर्मियों में ही नकसीर की समस्या होती है बल्कि नकसीर की समस्या सर्दियों में भी होती है उसका कारण यह होता है कि त्वचा का dryness होना। सर्दियों में शुष्क हवाओं के कारण त्वचा की नमी समाप्त हो जाती है जिसके कारण शरीर में कई जगह पर त्वचा फटने की भी समस्या उत्पन्न होने लग जाती है सर्दियों में होंठ फटने की समस्या तथा चेहरे और पैर की एड़ी फटने लग जाती है क्योंकि अधिक सर्दी होने के कारण त्वचा की नमी समाप्त हो जाती है और त्वचा dry हो जाती है जिससे त्वचा फट जाती है और खून निकलने लग जाता है इसलिए सर्दियों में आपको बहुत ज्यादा सावधान रहने की जरूरत है सर्दियों में ड्राइनेस की समस्या तथा नाक में खून आने की समस्या से बचने के लिए आपको बॉडी लोशन तथा पेट्रोलियम जेली का इस्तेमाल करना चाहिए। इसके इस्तेमाल से त्वचा में नमी बरकरार रहती है और soft रहती है जिससे इस समस्या से बचा जा सकता।
कभी-कभी सर्दियों के दिनों में जुखाम बहुत ज्यादा तेजी से हो जाता है। जुखाम होने के कारण नाक से पानी आता है तथा नाक में सूजन तथा लाल हो जाती है। बार बार छींक आती है और नाक को बार-बार पकड़ कर दबाना पड़ता है जिससे नाक के अंदर की त्वचा की झिल्ली फट जाती है और नाक से खून बहना शुरू हो जाता है। सर्दियों के दिनों में नाक के अंदर धूल मिट्टी तथा प्रदूषित वायु में सांस लेने के कारण नाक के अंदर कचरा इकट्ठा हो जाता है जो एक सुखी पपड़ी बंंन कर नाक के अंदर की त्वचा में चिपक जाता है वह वजह से इस प्रकार चिपक जाता है कि जब वह पपड़ी हम छोड़ आते हैं तो उसके साथ त्वचा भी बाहर आ जाती है और खून आना शुरू हो जाता है। इसके लिए आप पहले नाक में सरसों का तेल डाल ले जिससे वह पपड़ी soft हो जाएगी और आप बड़ी आसानी से उसे निकाल सकते हैं।

मुंह से खून आने के कारण munh se khoon aane ke Karan

मुंह से खून आना एक गंभीर बीमारी का संकेत हो सकता है। मुंह से खून आने के बाद यह जानना अत्यंत आवश्यक होता है कि मुंह से खून किस कारण से आया है, यदि मुंह से खून गले के बाहरी सतह से है तो आपको ज्यादा टेंशन लेने की जरूरत नहीं है। क्योंकि यह आम समस्या है यह है मुंह के अंदर की कोई त्वचा कट जाने के कारण या कोई दांत हिल जाने के कारण आ सकता है। परंतु यदि मुंह से खून गले के अंदर से आ रहा है तो आप तुरंत सावधान हो जाएं और तुरंत अपने डॉक्टर की सलाह लें अन्यथा आप किसी गंभीर बीमारी के शिकार हो सकते हैं। मुंह से खून आने के कुछ कारण निम्नलिखित हैं।
  • जुखाम तथा खांसी होने के कारण गले की त्वचा कट जाती है जिसके कारण मुंह से खून आ सकता है।
  • छाती में तथा फेफड़े में infection होने के कारण मुंह से खून आ सकता है।
  • मुंह से खून आते समय यदि भोजन के कुछ अंश दिखाई देते हैं तो यह पाचन संबंधी समस्या हो सकती है।
  • लंबे समय तक खासी में बलगम आने से कभी कभी बलगम में खून आने लग जाता है। ऐसा होने पर आपको बलगम का जांच अवश्य कराना चाहिए।
  • गले तथा फेफड़े में कैंसर हो जाने पर मुंह से खून आ सकता है।

 निष्कर्ष conclusion

संपूर्ण पोस्ट पढ़ने के पश्चात यह निष्कर्ष निकलता है कि नाक से खून बहने को नकसीर कहते है।यह problum अधिकतर गर्मियों में होती है।नकसीर फूटने की एक निश्चित उम्र होती है।जिसमें नकसीर की समस्या अधिक होती है।यह त्वचा के dray hone के कारण नकसीर की समस्या हो जाती है।नकसीर होने पर हमें relax होकर पीठ के बल लेट जाना चाहिए।तथा नाक के बजाय मुंह से सांस लेना चाहिए।इस पर भी खून निकलना बंद ना हो तो नाक पर बर्फ के टुकड़े को लेकर सिकाई करने से खून निकलना बंद हो जाता है।यदि 5 से 10 मिनट के बाद भी खून निकलना बंद ना हो तो हमें कल डॉक्टर के पास जाना चाहिए।
Disclaimer
इस पोस्ट को लिखने का मुख्य आशय सार्वजनिक जानकारी है ना कि किसी उपयोग के लिए। इसलिए हमारे द्वारा बताए गए किसी भी घरेलू नुस्खा अथवा दवाइयों का उपयोग करने से पहले डॉक्टर की सलाह लेने अत्यंत आवश्यक है यदि इसके बावजूद भी आप बिना डॉक्टर की सलाह के हमारे द्वारा बताए गए दबाव तथा घरेलू नुस्खों का उपयोग करते हैं तो उसके जिम्मेदार आप खुद होंगे हमारी कोई जिम्मेदारी नहीं होगी। क्योंकि हमने पर्सनल एक्सपीरियंस तथा सार्वजनिक जानकारी के लिए यह पोस्ट लिखा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button