Social

भारत के कुछ प्रमुख त्योहारों का वर्णन (indian festival in Hindi)

भारत के कुछ प्रमुख त्योहारों का वर्णन (indian festival in Hindi)

नमस्कार दोस्तों  हमारे साइड पर आप लोगों का 
बहुत-बहुत स्वागत है, दोस्तों आज हम भारत भूमि के ऐसे टॉपिक पर बात करेंगे जिसका सभी लोगों को बहुत बेसब्री से इंतजार रहता है। भारत भूमि को मेलों और त्यौहारों का देश कहा जाता है क्योंकि यहां पर अपने अपने समय पर पूरे वर्ष भर में अलग-अलग तरह के छोटे बड़े त्यौहार आते ही रहते हैं। त्योहार हमारे लिए खुशियां प्यार और सौहार्द की भावनाएं लेकर आती है। भारत में होने वाले कुछ खास व प्रमुख त्यौहार का मैं वर्णन करूंगा जिस को जानने के लिए आप लोग हमारे पोस्ट पर बने रहिए और पोस्ट को पूरा पढ़िए बहुत मजा आएगा  तो आगे हम इन्हीं त्योहारों का विधिवत वर्णन करने वाले हैं।
 हमारे देश में त्यौहार कि कई कैटेगरी है क्योंकि अलग-अलग धर्म में अलग-अलग तरह के त्यौहार मनाए जाते हैं तो वह इस प्रकार से हैं।

भारतीय हिंदू त्योहार

 भारत में कई धर्मों के लोग पाए जाते हैं जो अपने अपने धर्म के अनुसार अलग-अलग तरह के त्योहार को मनाते हैं जिसमें हिंदू धर्म सबसे आगे है क्योंकि हिंदुओं में त्योहारों की मान्यता ज्यादा होती है और संख्या भी ज्यादा होती है तो आइए जानते हैं कि हिंदू के कुछ प्रमुख व खास त्यौहार कौन-कौन से हैं तथा उनकी क्या विशेषताएं हैं।

1-शुभ दीपावली (dewali)

 हमारे पोस्ट को पढ़ने वाले अगर आप लोग इंडिया से ताल्लुक रखते हैं तो आप लोग ने दिवाली का नाम सुना होगा। दोस्तों दिवाली का नाम सुनते ही मुंह में पानी आने लग जाता है क्योंकि यह त्यौहार एक ऐसा त्यौहार है ।जिसमें दिवाली का मुबारकबाद देने के लिए मुंह मीठा कराया जाता है। और इसमें बहुत सारी मिठाईयां खाने को मिलते हैं। मेरे भाइयों दीपावली एक ऐसा हिंदुओं का पर्व है जिसका सभी को साल भर से बहुत बेसब्री से इंतजार रहता है।

दीपावली कार्तिक महीने में अमावस्या तिथि को मनाई जाती है। जब भगवान राम लंका पर विजय प्राप्त करके अपने राज्य अयोध्या वापस लौटते हैं तो पूरे अयोध्यावासी घी के दीए जलाते हैं। हर घर में इतने दीपक जलाए जाते हैं की चारों तरफ उजाला ही उजाला होता है अंधकार का नामोनिशान भी नहीं रहता है। दीपावली के दिन शाम को माता लक्ष्मी की पूजा होती है। तथा माता लक्ष्मी सभी को धनधान्य से परिपूर्ण करने के लिए सभी के घरों में आती हैं। तथा माता लक्ष्मी के स्वागत के लिए घरों में रंगोली बनाई जाती है। गांव घर के सभी लोग दिवाली का बधाई देने के लिए मिठाई से मुंह मीठा कराते हुए happy dewali बोलते हैं। दीपावली के दिन बहुत सारेेेे पटाखे फोड़ कर भगवान श्री राम के आगमन काााा स्वागत करते हैं।

2-होली (holi)

भाइयों भारत में हिंदुओं का एक महत्वपूर्ण त्योहार होली होता है जो साल में एक ही बार आता है होली को रंगों का त्योहार भी कहा जाता है। होली के त्यौहार में विभिन्न प्रकार के रंग सम्मिलित होते हैं।  हमारे देश में कोई भी ऐसा त्यौहार नहीं है जिसमें मिठाईयां व अच्छे-अच्छे खानपान ना बनाए जाते हो, बल्कि हमारे यहां हर त्योहारों को अच्छे-अच्छे भोजन और मिठाइयां बनाने का और एक दूसरे को खिलाने का रिवाज होता है, तो  होली भी एक ऐसा त्यौहार है जिसमें एक दूसरे को कई रंगों के द्वारा अपने प्यार का पैगाम देते रंग लगाते हुए एक दूसरे के गले मिलते हैं और गाना गाते हुए खुशियां मनाते हैं। यह त्योहार मार्च के महीने में मनाई जाती है। सबसे बड़ी बात यह है कि इस दिन रंग लगाने से कोई भी आदमी नाराज नहीं होता है जबकि अन्य दिन को रंग लगाने पर आदमी को क्रोध आ जाता है और लड़ाई तक हो जाती है परंतु इस दिन रंग को ही प्यार का नाम दिया गया है रंग को लगा कर एक दूसरे के प्रति लोग अपना प्यार व्यक्त करते हैं और गुजिया खिलाकर मुंह मीठा कराते हैं।

3-रक्षाबंधन(raksabandhan)

 रक्षाबंधन भाई बहन के प्रेम का त्यौहार है यह त्यौहार अगस्त में होता है। इस त्यौहार में बहन अपने भाई को टीका लगाती है तथा मिठाई खिलाकर उसे राखी बांधती है। यह राखी  भाई की सुरक्षा करता है और उसकी कलाई को मजबूत बनाता है।  भारत में मनाया जाने वाला भाई-बहन के प्रेम का एक इकलौता पर्व है जिससे बहुत धूमधाम से मनाया जाता है। हरियाणा में तो सभी हरियाणा रोडवेज इस दिन को अपने सभी बहनों के लिए फ्री सेवा जारी रखता है। जिससे गरीब बहन भी अपने भाई के पास राखी बांधने के लिए जा सके। राखी के त्यौहार के दिन अपनी सगी बहन के अलावा अपनी मुंह बोली बहन अथवा पड़ोस की भी बहने अपने अपने भाइयों को राखी बांधते हैं तथा उसके बदले में उनके भाई लोग उन्हें बहुत सारे गिफ्ट देकर अपने बहनों की झोली भर देते हैं।

4-दशहरा(vijay dasmi)

दोस्तों भारत में दशहरा एक ऐसा त्योहार है जिससे हमारे हिंदू भाई बड़ी ही धूमधाम से मनाते हैं। इस त्यौहार का मूल आधार यह है की इस दिन को राम ने लंकापति रावण को हराकर लंका पर विजय प्राप्त की थी। इसीलिए इसका नाम दशहरा पड़ गया दशहरा का मतलब दश हारा। इसी दिन रावण की पराजय हुई थी और राम की विजय हुई थी इसलिए इसको विजयदशमी का भी नाम दिया जाता है। इस दिन घर में बहुत अच्छे-अच्छे पकवान बनाए जाते हैं और रावण का पुतला बनाकर उसे जलाया जाता है। और यह मान्यता होती है कि प्रत्येक वर्ष रावण के पुतले को जलाने का तात्पर्य यह है कि हम अपने अंदर की बुराइयों पर विजय प्राप्त करें। क्योंकि राम और रावण की युद्ध सत्य और असत्य तथा अच्छाई और बुराई की लड़ाई थी जिसमें भगवान राम यानी अच्छाई तथा सत्य की विजय हुई थी और रावण की हार यानी असत्य और बुराई की हार हुई थी। इसलिए इस विजयदशमी के दिन अपने सभी बुराइयों का परित्याग कर देना चाहिए और अच्छाइयों को अपनाना चाहिए।

5-करवा चौथ karwa chauth

करवा चौथ का त्यौहार पति पत्नी के अटूट प्रेम संबंध का होता है। यह त्यौहार सभी पति पत्नी के रिश्ते को प्रगाढ़ और मजबूत बनाता है। करवा चौथ के दिन सभी पत्नियां अपने पति के लिए पूरे दिन निर्जला व्रत रखती है। इस व्रत में पूरे दिन पत्नियां बिना पानी पिए हुए रहती हैं। तथा शाम को संपूर्ण सिंगार करने के पश्चात चंद्र दर्शन होने पर अपने पति को चलनी की आड़ में देखती है तथा उनकी पूजा करती हैं। क्योंकि भारत में पत्नियां अपने पतियों को देवता मानती हैं। तत्पश्चात पति अपने हाथों के द्वारा अपनी पत्नी को पानी पिला कर उसका व्रत तोड़ता है। और दोनों एक साथ भोजन ग्रहण करते हैं। तथा एक दूसरे के प्रेम में डूब जाते हैं।

6-भैया दूज bhaiya dooj

भैया दूज का त्यौहार भाई बहन का त्यौहार होता है यह त्यौहार दीपावली के तीसरे दिन मनाया जाता है। इस त्यौहार को सभी बहने अपने भाइयों के लिए व्रत रखती हैं तथा उनके सुख और समृद्धि तथा उनके सुरक्षा के लिए भगवान से प्रार्थना करती है और पूजा करती है। पूजा करने के पश्चात अपने भाई को चुरा और चीनी का बना हुआ पतासा खिलाने के पश्चात अपना व्रत तोड़ते हैं। इसके बदले में सभी भाई अपनी अपनी बहन को कुछ उपहार भेंट करते हैं। क्योंकि भैया बहने तो बिना उपहार के कही जाती नहीं है। इसलिए सभी भाइयों को अपनी अपनी बहनों को प्रसन्न करने के लिए उपहार अथवा पैसा जरूर देना पड़ता है। इसके अलावा भी तमाम ऐसे त्यौहार है जो अपने समय समय पर आते रहते हैं जो निम्नलिखित हैं।
  1. बसंत पंचमी
  2. मकर संक्रांति
  3. गणेश चतुर्थी
  4. नवरात्रि
  5. महाशिवरात्रि
  6. वैशाखी
  7. पितृपक्ष
  8. जन्माष्टमी
  9. धनतेरस
  10. Vishwakarma jayanti
  11. गोवर्धन पूजा
  12. छठ पूजा
  13. Onam
  14. Lohri
  15. हनुमान जयंती
  16. कुंभ मेला आदि तमाम और भी अनेक त्यौहार है जो समय-समय पर तथा अलग-अलग जगहों पर मनाए जाते हैं।

कुछ प्रमुख मुस्लिम त्यौहार muslim tyohar

अपने धर्म के अनुसार हर धर्म में अपना त्यौहार होता है तो ऐसे कुछ मुस्लिम के भी त्यौहार होते हैं। इन त्योहारों को मुस्लिम भाई लोग तो खूब जम के मौज बनाते हैं। क्योंकि कोई भी त्यौहार आता है तो खानपान के लिए उचित व्यवस्था करना पड़ता है। कोई गरीब हो या अमीर हो परंतु त्यौहार के दिन सभी लोगों के घर में अच्छे पकवान बनाए जाते हैं। क्योंकि प्रत्येक व्यक्ति त्यौहार के दिन कहीं ना कहीं से पैसे का प्रबंध करके अपने परिवार और बच्चों के खुशी के लिए प्रत्येक सामग्री का प्रबंध करना अनिवार्य समझता है। मुस्लिमों में मनाए जाने वाले कुछ त्यौहार इस प्रकार से हैं।
  • ईद उल फितर (ईद)
  • ईद उल जुहा(बकरीद)
  • मुहर्रम
  • जमात उल बिदा
  • शब ए रात

राष्ट्रीय त्योहारों के नाम national festival

हमारा भारत जब गुलाम था तो हमने बहुत ही  कठिन परिस्थितियों का सामना किया। अंग्रेजों ने हमें लगभग 100 वर्षों तक अपना गुलाम बना के रखा था। गुलामी के दिनों में हमने अपने सभी अधिकार खो दिए थे। तथा एक पालतू जानवर की तरह कार्य करना और रुखा सुखा भोजन खाना कि हमारा जीवन का लक्ष्य रह गया था। परंतु हमारे देश के कुछ वीर महापुरुषों ने आत्मबल दान दिया। तथा अपने बलिदान और अदम्य साहस के बल पर भारतवर्ष को अंग्रेजों के चंगुल से मुक्त कराया। जिस के उपलक्ष में हमारे देश में कई त्यौहार मनाए जाते हैं। यह त्यौहार आज भी हमारे मन में तथा हमारे आंखों को नम कर जाते हैं क्योंकि अपने देश के लिए तमाम ऐसे वीरों ने अपने प्राण दे दिए जो आज भी हमें याद आते हैं। और इस दिन उन्हीं को याद करके उनको श्रद्धांजलि दी जाती है और यह पूरे भारतवर्ष में यह पैगाम दिया जाता है कि अब हम अपना देश गुलाम नहीं होने देंगे हम अपने प्राण दे देंगे पर किसी की अधीनता स्वीकार नहीं करेंगे। हमारे देश में मनाए जाने वाले कुछ राष्ट्रीय त्योहार इस प्रकार से है।

1-स्वतंत्रता दिवस  Independence day

15 अगस्त 1947 को हमारा देश पूर्ण रूप से अंग्रेजों की चंगुल से मुक्त हो गया था। आता प्रत्येक वर्ष 15 अगस्त के दिन स्वतंत्रता दिवस का त्यौहार बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है क्योंकि इस दिन ही हमारा भारत अंग्रेजों के गुलाम इसे पूरी तरह आजाद हो गया था। प्रत्येक स्कूलों में तथा राजधानी दिल्ली में लाल किले पर झंडा फहराया जाता है और संपूर्ण देश को एक पैगाम दिया जाता है की हम किसी से कम नहीं है तथा हमारे देश के सभी जवान अपनी अपनी करतब दिख लाते हैं और संपूर्ण भारतीय लोगों को यह संदेश देते हैं कि ईट का जवाब पत्थर से देने के लिए पूरी तरह से तैयार है। तथा प्रत्येक देश में अपने-अपने रीति-रिवाजों के अनुसार इस त्यौहार को सभी लोग मनाते हैं।

2-गणतंत्र दिवस republic day

26 जनवरी को मनाया जाने वाला एक त्यौहार बहुत ही उत्साह और धूमधाम के साथ मनाया जाता है क्योंकि 26 जनवरी 1950 को हमारे देश में संविधान लागू हुआ था। इसी दिन ही भारतवर्ष मैं डॉक्टर भीमराव अंबेडकर के द्वारा लिखा गया संविधान को भारत में पारित किया गया जो संपूर्ण स्वाधीनता के साथ-साथ अधिकारों और कर्तव्यों को कानून की प्रक्रिया के साथ जोड़ दिया गया था। इसलिए यह दिन भारत के लिए बहुत ही खास दिन माना जाता है और प्रत्येक वर्ष 26 जनवरी को यह त्यौहार बड़ी ही धूमधाम से मनाया जाता है।

3-गांधी जयंती gandhi jayanti

गांधी जयंती हमारे राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जन्मदिन का दिन है। महात्मा गांधी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को गुजरात के पोरबंदर नामक ग्राम में हुआ था। महात्मा गांधी अपने सत्य और अहिंसा के बलबूते पर अंग्रेजों के चंगुल से हमारे देश को मुक्त कराया। ऐसा नहीं है कि सिर्फ महात्मा गांधी ने ही भारत को आजाद कराया बल्कि करोड़ों भारतीय परिवारों ने अपनी जाने गवाही है उसके बाद जाकर आजादी मिली है परंतु इस आजादी में महात्मा गांधी की एक महत्वपूर्ण भूमिका है जिसके कारण उन्हें महात्मा का नाम दिया गया और राष्ट्र का पिता माना जाता है। प्रत्येक वर्ष 2 अक्टूबर का दिन प्रत्येक भारतीय के लिए बहुत खास दिन माना जाता है क्योंकि इस दिन की महात्मा गांधी का जन्म हुआ था जिसने भारत भूमि को अपने सत्य अहिंसा के दम पर अंग्रेजों को भारत से खदेड़  दिया।


Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button