Love

सच्चा प्यार क्या होता है (True Love Kya Hota Hai) – What Is True Love In Hindi?

 सच्चा प्यार क्या होता है (True Love Kya Hota Hai) – What Is True Love In Hindi?

 Jay हिंद दोस्तों आज हम इस आर्टिकल में बात करेंगे कि सच्चा 
प्यार क्या होता है true love या सच्चा प्यार क्या होता है जीवन चक्र के हिसाब से हर व्यक्ति को कभी ना कभी किसी से प्यार होता है लेकिन वह समझ नहीं पाता कि यह सच्चा प्यार है कि या बस एक टाइम पास है जिससे बहुत से युवाओं के मन में यह जानने की हार्दिक इच्छा होती है कि कैसे पता करें कि कोई हमसे प्यार करता है या बस टाइम पास करना है यदि आप इसी प्रश्नन को लेकर इंटरनेट पर घूम रहे हैं तो आप बिल्कुल सही पोस्ट पर आए हैं हम आज इस आर्टिकल में जानेंगे कि सच्चा प्यार क्या होता है सच्चा प्यार कैसा होता है और सच्चे प्यार के क्या क्या लक्षण है आप इन सब को जानने के बाद आप सामने वाले को पता लगा सकते हैं कि सामने वाला व्यक्ति आपसे सच्चा प्यार करता है कि नहीं प्यार दुनिया में सबसे प्यारा शब्द है प्यार एक अनुभव है जिसे महसूस किया जा सकता ना तो देखा जा सकताा है ना ही तोला जा सकता जो भी प्यार में होता है उसका जीवन बहुत ही आनंद में होता है लेकिन कहीं-कहीं अक्सर बंदा झूठे प्यार के चक्कर में पड़ जाता है जो कुछ समय बाद छोड़ कर चली  जाती है या चला जाता है उसके बाद  मन को बहुत ही दुख होता है और वह चिंता और तनाव ग्रस्त हो जाता है इसलिए बुद्धिमानी का कार्य यही है कि प्रेम करने से पहले सामने वाले को परख लेना चाहिए कि वह आपसे सच्चा प्यार करता है कि नहीं यदि वह सच्चा प्यार आपसे करता है तो आप भी उससे प्यार कर सकते हैं लेकिन अगर उसका प्यार झूठा है तो आप बेकार के उसके पीछे पड़े हैं एक न एक दिन उसको छोड़ कर ही जाना है और बाद में आपको दुख के सिवा और कुछ नहीं मिलेगा अगर आपसेे सच्चा  प्यार नहीं करता है तो आपसेे मैं तो यही कहूंगा कि उस चीज को छोड़ देना चाहिए क्योंकि एकतरफा प्यार कभी जीवन में चलता नहीं है प्यार अगर दोनों तरफ है तो सही है नहीं तो अगर एक तरफा प्यार है अगर प्यार का झूठा नाटक हो रहा है मन के अंदर सच्चा प्यार नहीं है तो उस जगह को या उस व्यक्ति को हमेशा हमेशा के लिए छोड़ देना चाहिए यह चाणक्य नीति में भी कहा गया है सच्चा प्यार किसेेेे कहते हैं या सच्चा प्यार को कैसे पहचाने यह प्रश्न  हर युवाओं के मन में चलता रहता है अगर आप यह समझते हैं कि सामने वाला बंदा या बंदी आपसे सच्चा प्यार करता है यदि आप उसे प्रपोज करने जाते हैं तो आपको 💯 परसेंंंट सफलता मिलती है किसी  पुस्तक में मैंने पढ़ा है कि प्रेम का अनुभव या प्यार का पल जीवन में सबसे बड़ा एवं सबसे आनंदमय  अनुभव होता है लेकिन अगर बाद में पता चलता है कि सामने वाला व्यक्ति आपसे सच्चा प्रेम नहीं करता तो यह सबसे बड़ा दुख की बात होती है इसलिए बहादुरी इसी में है और समझदारी भी इसी में है कि सबसे पहले आप  सामने वाले को भाप ले फिर कदम आगे बढ़ाए तो इसी सब प्रश्नों को ध्यान में रखते हैं आज हम बात करेंगे कि सच्चा प्यार क्या होता है या ट्रू लव क्या होता है

सच्चा प्यार किसे कहते हैं sachcha Pyar kise kahate Hain

दोस्तों जैसे मैंने ऊपर ही कहा है कि प्रेम एक प्रकार का अनुभव है जो व्यक्ति करता है वही महसूस करता है दोस्तों आपके जीवन में ऐसा होगा कि कोई आपके दिल में समाया हुआ है जो किसी भी तरह से टस से मस नहीं होता या किसी भी तरह से आप उसको भुला नहीं पाते हैं अगर उसे दिन में ना देखे या दिन में उससे बात ना हो तो मन उदास उदास रहता है सच्चे प्यार की भी कुछ ऐसी दशा होती है जब किसी को सच्चा प्यार होता है तो उसे नींद कम आता है और रात भर उसी के यादों में खोया रहता है मोबाइल का यूज बहुत करने लगता है और अपने आप में ही मस्त रहता है यदि आप से कोई सच्चा प्यार करता है तो सबसे पहले वह आपसे सही से नजर नहीं मिला पाएगा कहते हैं ना कि तिरछी चितवन का प्यार अमर होता है या तिरछी चितवन से आपको कोई देखता है तो उसका प्यार बहुत ही सच्चा एवं बहुत ही पवित्र है इसमें कोई संदेह नहीं करना चाहिए  यदि आप कहीं किसी से मिलने जाते हो या किसी से मिलते हो उसको आपसे मिलकर प्रसन्न होता है या प्रसन्नता का भाव उत्पन्न होता है तो उसे ही सच्चा प्यार या ट्रू लव कहते

सच्चे प्यार का सही अर्थ क्या है sacche Pyar ka Sahi Arth kya hai

यदि आप प्यार का सही अर्थ जानना चाहते हैं तो आपको प्यार किसी ना किसी से करना पड़ेगा दुनिया में कोई ऐसी पुस्तक नहीं जिसमें प्यार का सही सही अर्थ बताया गया है सब अपने अनुरूप से ही प्यार का वर्णन किया करते हैं प्यार एक ऐसा अनुभव है जिसे हम महसूस कर सकते हैं लेकिन उसे किताब में या किसी भाषा में लिख नहीं सकते क्योंकि मन के बात को लिखना असंभव है प्यार का अर्थ हर जगह अलग-अलग हो जाता है जैसे माता पिता का प्यार का अर्थ है ममता भाई बहन के प्यार का अर्थ है प्रेम, पति पत्नी के प्यार का अर्थ है संयोग ऐसे ही हर जगह अलग-अलग रिश्ते में अलग-अलग जगहों पर प्यार का मतलब बदल जाता है प्यार एक ऐसा अनुभव है जिसे किसी भी तरह से लिख पाना संभव नहीं है प्यार के विषय में लोगों को अलग-अलग मतभेद हैं जैसे
बिंदु जी ने प्यार के बारे में क्या कहा है
जिसे एक बार जीवन में किसी का प्यार मिलता है उसे बस आंसुओं के हार का उपहार मिलता है न पूछो दिल के इस बेकली का हाल न तन से प्राण जाता है ना प्राण आधार मिलता है किसे बताएं दर्द की बढ़ती हुई मंजिल ना कोई वैद्य मिलता है ना कोई उपचार होता है जहां कुछ छल छल आता असर जल दिखलाई देता है उसी मानस में सावला सरकार दिखता है
अर्थ
बिंदु जी का प्रेम के प्रति यह अर्थ है कि जैसे एक बार जीवन में किसी का प्यार मिलता है वह बस रोने के अलावा उसको कुछ नहीं मिलता है इनका प्रेम भक्त और भगवान के प्रति है जो बहुत ही निर्मल एवं पवित्र है श्री बिंदु जी ने यह पद भगवान के विरह में गाया है जो बहुत ही लोकप्रिय और बहुत ही मनभावन है तो यहां बिंदु जी के इस पद का तात्पर्य ही है कि यदि भगवान नहीं मिलते तो तन से प्राण निकल जाए
प्यार के विषय में मीरा जी का कथन
मेरो तो गिरधर गोपाल दूसरो न कोई जाके सिर मोर मुकुट सोए मेरो पति सोई मेरो तो गिरधर गोपाल दूसरो न कोई
अर्थ
मीरा जी के इस पद से साफ साफ पता चल रहा है कि मेरा जी ने इस पद को किस शैली में और किसके प्रति गाया है यहां प्रेम का अर्थ संयोग है जो मेरा जी का प्रेम भगवान श्री कृष्ण के प्रति प्रेम वाला प्यार है अतः मेरा जी के पद का अर्थ यहां पर संयोग है
ऐसे ही अनेक कवियों ने अलग-अलग प्यार के रूप में अपनी व्याख्या को प्रस्तुत किया है इसलिए ऐसा कहा जा सकता है कि प्यार का अर्थ शब्द में नहीं बयां किया जाता जैसे ऊपर मैंने पहले ही बताया कि प्यार एक प्रकार का अनुभव है जिसे आप अनुभव कर सकते हैं ना कि उसे लिखकर देख सकते हैं यह करना असंभव है

सच्चे प्यार को कैसे पहचाने sacche Pyar Ko kaise pahchane

सच्चे को प्यार को पहचानना बहुत ही आसान है यदि हमारे बताए हुए इन कुछ बातों का आप ध्यान रखते हैं या इन बातों को फॉलो करते हैं तो आप एक सच्चे प्यार को पहचान सकते है कि आपको सामने वाला व्यक्ति सच्चा प्यार करता है या बस टाइम पास तो चलिए फटाफट जान लेते वो कौन से लक्षण या कौन सी बातें हैं जिससे यह पता चलता है कि सामने वाला व्यक्ति आपसे प्यार करता है या नहीं
  • जब आप किसी को देखें और आपके दिल की धड़कने बढ़ने लगे
  • जब वह आए तो आप नर्वस महसूस करने लगे
  • रातों को नींद कम आना और उसी के ख्यालों में खोए रहना
  • उसकी फोटो को बार बार देखना
  • उसके नाम को हर जगह पर लिखना
  • उसकी हां में हां मिलाना
  • रोमांटिक गाने सुनाना
  • अपनी मस्ती में मस्त रहना और किसी से मतलब नहीं रहना
  • उसको देख कर मन में खुशी का संचार हो
  • खुद को ऊर्जावान महसूस करना
  • झगड़ा बवाल जैसे फालतू चीजों से दूर रहना या फालतू चीजों के बारे में ना सोचना
  • यदि आपके बालों को बहुत छोटा है तो यह सबसे बड़ा लक्षण है प्यार को परखने का
  • खुद को मेंटेन और साफ सुंदर रखना और अच्छे कपड़े पहनना
  • सभा में एकाएक परिवर्तन होना या दुष्ट लोगों के संग से दूर रहना
तो यह रहे कुछ लक्षण जिससे आप पहचान सकते हैं कि सामने वाला व्यक्ति आपसे प्यार करता है या सामने वाला व्यक्ति प्यार में पड़ा हुआ है तो इन सब बातों को फॉलो करके आप पहचान सकते हैं कि सामने वाला व्यक्ति आपसे सच्चा प्यार करता है या नहीं

झूठे प्यार को कैसे पहचाने Pyar Ko kaise pahchane

जैसे ऊपर बताया गया है कि यदि कोई व्यक्ति सच्चे प्यार में होता है तो वह बहुत ही आनंद मैं जीवन जीता है उसी प्रकार जब व्यक्ति झूठे प्यार या टाइमपास के चक्कर में पड़ जाता है तो उसे दुख के सिवा कुछ हाथ नहीं लगता जब वह छोड़ कर चला जाता है तो हृदय को बहुत ही ठेस पहुंचता है और मन उदास रहता है और शरीर बीमार होने लगता है चिंता ग्रस्त होने के कारण नाना प्रकार की व्याधियों शरीर में उत्पन्न होने लगती है तो हम इस आर्टिकल से पहचान सकते हैं कि व्यक्ति आपसे झूठा प्रेम करता है इस आर्टिकल में कुछ ऐसे बातें बताई गई हैं जिससे आप सामने वाले को परख सकते हैं कि झूठा प्यार करता है या यूं कह झूठे प्यार की निशानियां क्या-क्या होती है तो चलिए हम जान लेते हैं कि झूठे प्यार को कैसे पहचाने
  • सच्चा प्यार बलिदान देता है और झूठा प्यार अपने बारे में सोचता है
  • सच्चा प्यार खुशी देता है और झूठा प्यार में दुख के सिवा कुछ नहीं
  • सच्चा प्यार करने वाला व्यक्ति नम्र होता है और झूठा प्यार करने वाला व्यक्ति क्रूर होता है
  • सच्चा प्यार करने वाला व्यक्ति सत्य बोलता है और झूठा प्यार करने वाला व्यक्ति झूठ बोलता है
  • सच्चा प्यार करने वाला व्यक्ति आपकी चिंता करता है और झूठा प्यार करने वाला व्यक्ति अपनी चिंता करता है
  • सच्चे प्यार में जरूरत नहीं होती है और झूठे प्यार में बंदा अपनी ही जरूरतों के बारे में बात करता है
  • सच्चे प्यार में त्याग की भावना होती है और झूठे प्यार में प्राप्त करने की भावना होती है
  • झूठा प्यार करने वाला व्यक्ति केवल अपने जरूरतों के लिए ही आपसे प्यार करता है जबकि सच्चा प्यार करने वाला व्यक्ति आपको हमेशा प्यार करता है चाहे आप झोपड़ी में रहेगा महल में आपसे प्यार करेगा
तो यह रही कुछ झूठे प्यार की निशानियां जिसे आप पर रखकर झूठे प्यार या टाइमपास प्यार से छुटकारा पा सकते हैं और उसे हमेशा दूरी बना सकते हैं झूठे प्यार की और कभी अग्रसर नहीं  होना चाहिए पहले तो वह बहुत अच्छा लगता है बाद में बहुत ही दुख देता है फिर मन यही सोचता है कि मैंने प्यार क्यों किया

किस नाम के लड़के सच्चा प्यार करते है kis naam ke ladke saccha pyar karte hain

यह प्रश्न इंटरनेट पर सबसे ज्यादा पूछा जाता है कि किस नाम के लड़के सच्चा प्यार करते हैं लेकिन मैं आपको बता दो नाम में कुछ नहीं रखते हैं आकाश नाम का लड़का जमीन पर धक्के खाता घूमता है तो इसलिए नाम का कोई मतलब नहीं करता और करना है तो करो करेगा नहीं करना है तो धोखा देकर जाएगा इसलिए अगर दिमाग में है कि हमसे सच्चा प्यार करता है तो करिए नहीं तो छोड़ दीजिए नाम का कोई मतलब नहीं है बस फालतू का प्रश्न ऐसे लोग पूछते रहते हैं तो इसका भी जवाब देना चाहिए वैसे आप भी अगर नाम को लेकर कोई अच्छा सा नाम हो या घर वाले नाम हो तो आप ऐसे कुछ पता लगा सकते हैं सच्चा प्यार करता है कि नहीं 
Disclaimer
दोस्तों हमें उम्मीद है कि इस आर्टिकल में दी गई जानकारी आपको बहुत ही पसंद आई होगी अगर पसंद आई है तो हमारे वेबसाइट के साथ बने रहें और ऐसे ही ज्ञानवर्धक जानकारी पाने के लिए हमें इंस्टाग्राम पर फॉलो कीजिए और यदि इस आर्टिकल में कोई भूल चूक हो गई है तो मुझे क्षमा करें और उस भूल को  कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं हम उसे सुधार करने की पूरी कोशिश करेंगे तो धन्यवाद भैया पूरा ऊपर से नीचे तक पढ़ने के लिए थैंक यू

Related Articles

One Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button