Study

DNA का full form क्या होता है।DNA ka full form in Hindi.rstbox

 DNA का full form क्या होता है।DNA ka full form in Hindi.rstbox

नमस्कार दोस्तों आज के इस आर्टिकल में आप लोगों का बहुत-बहुत स्वागत है। आप लोगों ने अधिकतर टीवी फिल्मों तथा समाचार पत्रों में और न्यूज चैनलों पर अधिकतर DNA की चर्चा होती रहती है। आप लोगों ने भी कहीं ना कहीं Dna का नाम जरूर सुना होगा। अतः मैं आज आप लोगों को डीएनए के बारे में संपूर्ण जानकारी देने वाले हैं। अगर आपने जीव विज्ञान से 11वीं और 12वीं पास की होगी तो हो सकता है आपने भी डीएनए के बारे में पूर्ण जानकारी प्राप्त की होगी। अतः यदि आप डीएनए का फुल फॉर्म नहीं जानते हैं तो आज मैं आप लोगों को डीएनए से जुड़े अनेक प्रश्न जैसे डीएनए का फुल फॉर्म क्या होता है? डीएनए का टेस्ट क्यों कराया जाता है? डीएनए का टेस्ट किन-किन माध्यमों के द्वारा किया जाता है? डीएनए किसे कहते हैं? और यह किस तरह कार्य करता है तथा डीएनए के द्वारा कौन-कौन सी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं? इत्यादि तमाम प्रश्नों के उत्तर जाने के लिए हमारे पोस्ट को पूरा पढ़ें। डीएनए का टेस्ट करने की अनुमति सभी प्रयोगशालाओं को नहीं होती है अतः डीएनए का टेस्ट कराने के लिए कुछ मान्यता प्राप्त प्रयोगशाला में हैं जिनके द्वारा dna का टेस्ट किया जाता है। क्योंकि डीएनए टेस्ट के माध्यम से अनेक जानकारियां प्राप्त होती है।

डीएनए का फुल फॉर्म क्या है full form of DNA

आज मैं आप लोगों को dna का फुल फॉर्म यानी dna का पूरा नाम क्या होता है। क्योंकि डीएनए एक shotcut भाषा है। अतः dna का फुल फॉर्म आप लोगों को हम बता देते हैं क्योंकि आप लोग भी सोच रहे होंगे कि हमें कहां-कहां घुमा रहे हैं परंतु हमारा आशय आपको घुमाना नहीं बल्कि छोटी सी छोटी संपूर्ण जानकारी देना है अतः आइए जानते हैं कि डीएनए का फुल फॉर्म क्या होता है।
  • D-deoxyribo
  • N-nucleic
  • A-acid
अतः डीएनए का पूरा  डीऑक्सिरिबोन्यूक्लिक एसिड होता है। इसे हिंदी में डीऑक्सिरिबोन्यूक्लिक अमल भी कहा जाता है।
डीएनए के द्वारा हमें अनेक जानकारियां प्राप्त होती हैं। DNA हमेशा अमर होता है जो पीढ़ी दर पीढ़ी स्थानांतरित होता रहता है। DNA सिर्फ मनुष्य में ही नहीं बल्कि समस्त जीव धारियों में dna पाया जाता है समस्त जीव धारियों का आशय जीव-जंतु पेड़-पौधे तथा जो भी सजीव वस्तुएं हैं उन सभी में डीएनए पाया जाता है।

DNA किसे कहते हैं what is DNA

अगर आपने जीव विज्ञान से स्नातक  किया है तो आपको dna के बारे में जानकारी जरूर होगी और यदि आपको डीएनए के बारे में जानकारी नहीं है तो इस पोस्ट में आपको संपूर्ण जानकारी मिल जाएगी। प्रत्येक व्यक्ति के शरीर में 23 जोड़ें डीएनए अर्थात 46 डीएनए पाए जाते हैं जिनमें 23 माता के तथा 23 पिता के होते हैं। क्योंकि किसी भी व्यक्ति का निर्माण उनके माता-पिता के अंशों को मिलाकर बनता है। अतः उन्हीं अंशों को डीएनए कहा जाता है।माता-पिता के डीएनए के माध्यम से बच्चे के कद तथा चमड़ी का रंग और शरीर की बनावट का भी पता लगाया जा सकता है। dna सिर्फ मनुष्य में ही नहीं बल्कि पशु पक्षी जीव जंतु तथा पेड़ पौधों में भी होता है। डीएनए हमारे शरीर में एक सीडी नुमा घुमावदार होता है। प्रत्येक जीव धारियों में पाया जाता है। डीएनए अनुवांशिक पर आधारित होता है क्योंकि प्रत्येक जीवधारी में नर और मादा पाए जाते हैं जिनमें मनुष्य में 46 गुणसूत्र पाए जाते हैं। जिसमें 23 माता की तथा 23 पिता के गुणसूत्र होते हैं अतः डीएनए के माध्यम से हमें बड़ी आसानी से यह पता लगाया जा सकता है कि यह किसका भाई है किसकी बहन है तथा किसकी बुआ है और इसके माता-पिता कौन हैं।

डीएनए टेस्ट क्या है 

आपने डीएनए टेस्ट का नाम अधिकतर समाचार पत्रों टीवी चैनलों और फिल्मों में डीएनए टेस्ट का नाम सुना होगा। हमारे शरीर में dna लाल रक्तरक्त कोशिकाओं को छोड़कर बाकी सभी कोशिका में डीएनए पाई जाती है। हमारे शरीर में dna चमड़ी, गालों के अंदर की कोशिकाओं में अर्थात जिसे लार कहते हैं। उन में पाया जाता है । अतः डीएनए टेस्ट करने के लिए बाल चमड़ी नाखून तथा मुंह के अंदर के लार का सैंपल लेकर dna test किया जाता है। डीएनए का टेस्ट करने को सभी प्रयोगशालाओं को अनुमति नहीं होती है अतः कुछ मान्यता प्राप्त प्रयोगशाला ही हैं जिनके द्वारा डीएनए टेस्ट किया जाता है। DNA test लगभग 5000 से 50000 तक रुपयों में किया जाता है अर्थात जिस तरह का टेस्ट होता है उस हिसाब से पैसे लगते हैं। क्योंकि डीएनए के द्वारा लगभग 1200 प्रकार के टेस्ट किए जाते हैं। डीएनए का टेस्ट सिर्फ मनुष्य का ही नहीं बल्कि पेड़ पौधों का भी किया जाता है जिनके द्वारा उनके पैदावार तथा अनेक प्रकार के होने वाली बीमारियों का पता लगाया जाता है। अता कृषि के क्षेत्र में भी डीएनए का काफी महत्व होता है।

डीएनए टेस्ट का महत्व value of DNA test

Madical since में dna test का बहुत ही महत्व है। डीएनए टेस्ट के द्वारा अनेक प्रकार की जानकारियों को एकत्र की जाती है। जो अनुवांशिकता पर आधारित होते हैं। अतः डीएनए टेस्ट के माध्यम से कौन कौन सी जानकारी हासिल की जाती है आइए जानते हैं।
  • डीएनए टेस्ट के द्वारा उसके सही मां-बाप का पता लगाया जा सकता है क्योंकि आज के युग में किसी के द्वारा कोई गलती की वजह से यदि पुत्र जन्म ले लेता है।और उसके सही मा बाप का पता लगाया जा सकता है।
  • डीएनए टेस्ट का महत्व कानून की दुनिया में भी काफी ज्यादा माना जाता है क्योंकि डीएनए टेस्ट के माध्यम से अनेक प्रकार के अपराधियों को पकड़ने में काफी ज्यादा मदद मिलती है।इसलिए forencik में इसका काफी महत्वपूर्ण स्थान है।
  • Dna test के द्वारा अनेक प्रकार के पेड़ पौधों की बीमारियों तथा उनके पैदावार के बारे में पता लगाया जाता है।
  • Dna test के माध्यम से किसी भी अनुवांशिक बीमारियों का पता लगाया जाता है।तथा उसे जल्द समाप्त करने में बहुत ज्यादा मदद मिलती है।

डीएनए टेस्ट की खोज किसने की

डीएनए टेस्ट का खोज कब हुआ था तथा इस का खोज किसने किया था यह जिज्ञासा आपके मन में भी हो रही होगी।
डीएनए की खोज 1953 में हुई थी।
डीएनए की खोज करने वाले वैज्ञानिक का नाम जेम्स और फ्रांसिक क्रिक jems and fransik krik ने किया था।

निष्कर्ष conclusion

संपूर्ण पोस्ट पढ़ने के पश्चात यह निष्कर्ष निकलता है कि डीएनए हमारे शरीर में लाल रुधिर कणिकाओं को छोड़कर सभी कोशिकाओं में पाया जाता है। डीएनए का फुल फॉर्म आप लोग जान ही गए होंगे। अतः डीएनए का पूरा नाम डीऑक्सिरिबोन्यूक्लिक एसिड होता है। डीएनए हमारे शरीर में एक सीडी नुमा चैन के आकार का होता है 🧬। डीएनए के माध्यम से लगभग 1200 प्रकार के टेस्ट किए जा सकते हैं।
DNA का खोज सन 1953 में जेम्स और फ्रेंसिक क्रिक ने किया था।
Disclamer
यह पोस्ट हमने इंटरनेट पर प्राप्त जानकारी के अनुसार लिखा है अतः मैं कोई वैज्ञानिक नहीं हूं और ना ही कोई डॉक्टर हूं अतः हमारे पोस्ट में कोई त्रुटि भी हो सकती है।यदि आपकी नजर में कोई त्रुटि दिखाई देती है तो कमेंट करके हमें जरूर बताएं मैं उसे सुधारने का प्रयत्न करूंगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button